ads

KYC क्या है ? आजकल हर जगह KYC जरूरी क्यों है ?



आज के जमाने में हर किसी को KYC के बारे में जरूर जानना चाहिए क्योंकि अगर आप कहीं भी BANK ACCOUNT खुलवाएंगे या फिर कोई wallet app का इस्तेमाल करना चाहेंगे हो आपको kyc करवाना जरूरी होगा । बिना kyc के आप ना तो BANK ACCOUNT खुलवा पाएंगे और ना ही किसी WALLET का उपयोग कर पाएंगे । अगर आप कहीं से कुछ LOAN लेना चाहते हैं या फिर किसी MUTUAL FUND में INVEST करना चाहते हैं । आपको KYC करवाने की जरूरत पड़ेगी । इससे आपकी कोई जानकारी को कोई खतरा नहीं है बल्कि ये Security कारणों से किया जाता है ।
आपको KYC करवाने के लिए ज्यादा दिक्कत लेनी नहीं पड़ेगी, बस आपको कोई Government issued कोई valid document देना होगा । बाकी के process वे पूरा कर लेंगे । आप KYC के लिए अपना कोई भी document किसी fraud कंपनी को ना दें इससे वे आपके डॉक्यूमेंट का गलत उपयोग भी कर सकते हैं ।

KYC का FULL FORM क्या होता है ?

KYC तीन शब्दों K, Y और C इंग्लिश शब्दों से बना है । हर एक अक्षर एक शब्द को दर्शाते हैं जैसे K मतलब - Know ( जानना ) , Y मतलब - Your (तुम्हारा / आपका) और C का मतलब होता है - customer ( ग्राहक ) । English में KYC का full form - Know your customer होता है । KYC का full form हिंदी में - अपने कस्टमर को जाने होगा । अर्थात् KYC एक ऐसा documentary process है जिसमें customer अपना कोई एक valid identity का प्रमाण देता है ।



KYC क्या होता है ?

KYC एक प्रकार की valid पहचान proof की प्रक्रिया होती है । यह एक जरूरी प्रक्रिया है । इस प्रक्रिया के दौरान चेक किया जाता है कि कहीं Banking , Insurence , wallet apps या अन्य सुविधाओं का दुरुपयोग ना हो जाए । समाज में कई असामाजिक तत्व होते हैं जो हमेशा किसी चीज के दुरुपयोग से किसी का नुक़सान करने की सोचते हैं । KYC process द्वारा ऐसे घटनाओं से बचा जा सकता है ।
KYC का मतलब होता है अपने कस्टमर को जानना । विभिन्न प्रकार के सामाजिक सेवा जैसे बैंकिंग , Mobile number का उपयोग , Insurece , credit और dabit card आदि सुविधाओं के लिए kyc जरूरी होता । ये बहुत ही sensetive चीजें होती है जिनका प्रयोग से धोखाधड़ी हो सकता है । ऐसे परिस्थितियों से बचने के लिए Banks , Sim कंपनी , Insurence componies आपको KYC के लिए कोई Government issued id proof मांगती है । जिससे बैंक यह चेक कर सके कि आपकी द्वारा दी गई जानकारियां सही है क्योंकि आपके उस identity proof में आपसे संबंधित पूरी जानकारी होती है ।



आजकल आधार कार्ड ( Aadhar card ) बहुत प्रचलित document है और इसका उपयोग आप सभी जगहों में कर सकते हैं । इस एक आधार कार्ड से आपका बहुत से जानकारियां verify हो जाती हैं जैसे - नाम (name) , पिता का नाम (father's name), जन्मतिथि ( date of birth), पता (address) , photo आदि । इसके अलावा कुछ अन्य document भी इन चीजों को वेरिफाई करते हैं ।

KYC के लिए Valid document कौन - कौन सा होता है ?

आप KYC की लिए विभिन्न प्रकार के gornment द्वारा जारी किया गया documents का उपयोग कर सकते हैं , लेकिन कुछ जगह कोई एक documents का होना जरूरी होता है और कई बार आपको एक से अधिक document मांगा जा सकता है । कई बार एक से अधिक proof मांगा जाता है क्योंकि एक document से सभी चीजें verify नहीं हो पाती हैं ।
आप अपने identity proof के लिए निम्न document का उपयोग कर सकते हैं -
1. पासपोर्ट (Passport)
2. मतदाता पहचान पत्र (Voter’s Identity Card)
3. ड्राइविंग लाइसेंस (Driving Licence)
4. आधार कार्ड (Aadhaar Card)
5. पैन कार्ड (Pan Card)
6. राशन कार्ड
7. बिजली बिल का रसीद ( electricity bill )
8. अपनी स्कूल की मार्कशीट ( School marksheet )
9. बैंक पासबुक (Bank passbook )
यहां कुछ डॉक्यूमेंट की लिस्ट दी गई है , टॉप 5 document को ज्यादातर मांगा नीचे के 6 नंबर से लेकर 9 नंबर के document सभी जगह काम नहीं आती हैं । लगभग हर जगह आप आधार कार्ड का प्रयोग कर सकते हैं । अगर आपको एक से अधिक document मांगा जाता है तो आप इनमें से provoid कर सकते हैं ।

KYC की process क्या होती है ?

KYC की process के लिए आपके तरफ से केवल कोई valid document और कुछ अन्य चीजें देनी पड़ेगी । बैंक और नया mobile नंबर खरीदने के समय आपके singnature मांगा जाता है । बाकी की process office का कार्य होता है अर्थात् वे बाकी प्रोसेस संभाल लेंगे जिसमें identity verification की जाती है ।

KYC से संबंधित सावधानियां

KYC एक जरूरी process है लेकिन कुछ fraud कंपनी KYC के नाम पर आपको ठग सकते हैं या आपके document से आपकी जानकारी चुरा सकती है । कई बार आपके document का miss use भी हो सकता है । आप इन बातों का ध्यान दें -
1. अपनी document किसी अनजान कंपनी को ना दें ।
2. किसी अनचाहा app में kyc के लिए detail ना दें ।
3. अगर आपका कोई mobile number / sim गुम हो जाता है तब valid document के साथ आप उसी नंबर को दोबारा के सकते हैं अन्यथा अगर वहीं नंबर किसी दूसरे गलत व्यक्ति के हाथ लग गया तो उस नंबर का आपके बैंकिंग से संबंधित गलत उपयोग भी हो सकता है ।



Conclusion/ निष्कर्ष - उम्मीद है आप समझ गए होंगे कि KYC क्या होता है ? साथ ये भी समझ गए होंगे कि KYC जरूरी क्यों होता है । KYC के लिए सबसे ज्यादा उपयोग में लाई जाने वाली document आधार कार्ड है पर ऐसा भी नहीं है कि आप केवल आधार कार्ड दें इसके अलावा आप कुछ अन्य document दे सकतें है अगर कुछ जगह आधार कार्ड होना अनिवार्य होगा तब आपको आपका आधार कार्ड देना होगा । अगर आपको KYC से संबंधित कोई भी परेशानी अर्थात् कोई सवाल है तो आप नीचे comment करके पूछ सकते हैं ।