ads

Durga Puja Aarti In Hindi - दुर्गा पूजा आरती


Durga Puja Aarti In Hindi - भारत एक धार्मिक प्रधान देश है जहां देवी देवताओं की पूजा बड़े श्रद्धा के साथ की जाती है । इनमें से मां दुर्गा पूजा भी एक है । इस त्यौहार को बुराई पर अच्छाई के जीत के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है क्योंकि कहा जाता है कि मां दुर्गा ने महिषासुर का वद्ध किया था इसी को बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में माना जाता है और मां दुर्गा की पूजा की जाती है ।
हिन्‍दू पंचांग के अनुसार आश्विन मास की शुक्ल पक्ष की षष्‍ठी से लेकर विजयदशमी या दशहरे तक दुर्गा उत्‍सव मनाया जाता है । इस बार दुर्गा पूजा 04 अक्‍टूबर 2019 से लेकर 08 अक्‍टूबर 2019 तक है ।
पुराणों में कहा गया है कि आरती को गाने से मन की शांति मिलती है और आत्मा शुद्ध हो जाती है । इससे शरीर में एक प्रकार का सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न होती है ।

Durga Puja Aarti In Hindi - दुर्गा पूजा आरती

जय अम्बे गौरी, मैया जय श्यामा गौरी।
तुमको निशदिन ध्यावत, हरि ब्रह्मा शिव री।। जय अम्बे गौरी,...।
मांग सिंदूर बिराजत, टीको मृगमद को।
उज्ज्वल से दोउ नैना, चंद्रबदन नीको।। जय अम्बे गौरी,...।
कनक समान कलेवर, रक्ताम्बर राजै।
रक्तपुष्प गल माला, कंठन पर साजै।। जय अम्बे गौरी,...।
केहरि वाहन राजत, खड्ग खप्परधारी।
सुर-नर मुनिजन सेवत, तिनके दुःखहारी।। जय अम्बे गौरी,...।
कानन कुण्डल शोभित, नासाग्रे मोती।
कोटिक चंद्र दिवाकर, राजत समज्योति।। जय अम्बे गौरी,...।
शुम्भ निशुम्भ बिडारे, महिषासुर घाती।
धूम्र विलोचन नैना, निशिदिन मदमाती।। जय अम्बे गौरी,...।
चण्ड-मुण्ड संहारे, शौणित बीज हरे।
मधु कैटभ दोउ मारे, सुर भयहीन करे।। जय अम्बे गौरी,...।
ब्रह्माणी, रुद्राणी, तुम कमला रानी।
आगम निगम बखानी, तुम शिव पटरानी।। जय अम्बे गौरी,...।
चौंसठ योगिनि मंगल गावैं, नृत्य करत भैरू।
बाजत ताल मृदंगा, अरू बाजत डमरू।। जय अम्बे गौरी,...।
तुम ही जग की माता, तुम ही हो भरता।
भक्तन की दुःख हरता, सुख सम्पत्ति करता।। जय अम्बे गौरी,...।
भुजा चार अति शोभित, खड्ग खप्परधारी।
मनवांछित फल पावत, सेवत नर नारी।। जय अम्बे गौरी,...।
कंचन थाल विराजत, अगर कपूर बाती।
श्री मालकेतु में राजत, कोटि रतन ज्योति।। जय अम्बे गौरी,...।
अम्बेजी की आरती जो कोई नर गावै।

कहत शिवानंद स्वामी, सुख-सम्पत्ति पावै।। जय अम्बे गौरी,...।